डाउनलोड हनुमान चालीसा पीडीएफ | Download Hanuman Chalisa PDF In Hindi

PDF Nameफ्री हनुमान चालीसा हिंदी पीडीएफ | Free Hanuman Chalisa Hindi PDF Download
No. of Pages9
PDF Size0.4 MB
LanguageHindi
PDF CatagoryReligion & Spirituality
SourceAgragami.in
Download LinkGiven here

अगर आप हनुमान चालीसा का हिंदी लिरिक्स पीडीएफ डाउनलोड करना चाहते हैं, तो आप एकदम सही जगह पर आए हैं क्योंकि यहां पर हनुमान चालीसा पाठ का संपूर्ण हिंदी लिरिक्स पीडीएफ डाउनलोड करने का डायरेक्ट लिंक दिया गया है | if you are searching for Hanuman Chalisa Free Hindi PDF, then you have came to the right place because here direct Download link of Hanuman Chalisa Full Hindi Lyrics PDF is given.

हनुमान चालीसा के बारे में | About Hanuman Chalisa PDF Hindi

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपके साथ हनुमान चालीसा का संपूर्ण हिंदी लिरिक्स का पीडीएफ शेयर करने वाले हैं, लेकिन उससे पहले हनुमान चालीसा के बारे में कुछ अत्यावश्यक बातें जान लेना बहुत जरूरी है।

हनुमान चालीसा बजरंगबली श्री हनुमान जी को समर्पित किया गया एक बहुत शक्तिशाली और लाभदाई स्तुति मंत्र है। इसके पाठ करने से भक्तों को बजरंगबली जी का अपार कृपा प्राप्त होती है।

हनुमान चालीसा Hanuman Chalisa Hindi PDF
हनुमान चालीसा – Hanuman Chalisa Hindi PDF

हनुमान चालीसा हनुमान जी को प्रसन्न करने वाला सबसे लोकप्रिय और असरदार मंत्र है। इसका रचना तुलसीदास जी ने किया है, और इसका रचना सर्वप्रथम अवधि भाषा में किया गया था। लेकिन उसके बाद इस हनुमान चालीसा को कई और भाषा जैसे संस्कृत, हिंदी, तमिल, तेलुगू, मराठी, गुजराती, बेंगली, कनाडा और भी बहुत सारी भाषाओं में अनुवाद किया गया है।

शुरू और शेष में “दोहा” को छोड़के हनुमान चालीसा 40 श्लोक का सम्मिलित संकलन है, जिसका मतलब इसमें कुल 40 श्लोक है। और इसी के ही लिए इसको चालीसा के नाम से जाना जाता है, और क्योंकि इसको हनुमान जी को समर्पित किया गया है, इसलिए हनुमान चालीसा इसका नाम रखा गया है।

READ ALSO  ऑटोबायोग्राफी ऑफ ए योगी PDF | Autobiography Of A Yogi Hindi PDF

हनुमान जी प्रभु श्री राम का सबसे बड़ा भक्त है। और हनुमान जी स्वयं महादेव का अवतार है। जब भगवान नारायण प्रभु श्री राम का अवतार लेकर धरती पर जन्म लिया, तब नारायण जी का परम प्रिय महादेव जी भी उनका साथ देने के लिए हनुमान की अवतार में धरती पर आए और भक्ति प्रेम की सर्वश्रेष्ठ नमूना पेश किया।

बजरंगबली जी को शक्ति, उत्तम, ज्ञान, शुद्धता और भक्ति का परम प्रतीक माना जाता है। इसलिए अगर उनकी उपासना करके उनकी कृपा प्राप्त की जाए तो, व्यक्ति को इन सब चीजों की प्राप्ति होती है।

हनुमान चालीसा हिंदी लिरिक्स | Hanuman Chalisa Hindi Lyrics PDF

-: हनुमान चालीसा का संपूर्ण हिंदी लिरिक्स :-

दोहा:

श्रीगुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकुरु सुधारि।
बरनऊं रघुबर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।।
बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार।
बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।।

चौपाई:

जय हनुमान ज्ञान गुन सागर।
जय कपीस तिहुं लोक उजागर।।

रामदूत अतुलित बल धामा।
अंजनि-पुत्र पवनसुत नामा।।

महाबीर बिक्रम बजरंगी।
कुमति निवार सुमति के संगी।।

कंचन बरन बिराज सुबेसा।
कानन कुंडल कुंचित केसा।।

हाथ बज्र औ ध्वजा बिराजै।
कांधे मूंज जनेऊ साजै।

संकर सुवन केसरीनंदन।
तेज प्रताप महा जग बन्दन।।

विद्यावान गुनी अति चातुर।
राम काज करिबे को आतुर।।

प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया।
राम लखन सीता मन बसिया।।

सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा।
बिकट रूप धरि लंक जरावा।।

भीम रूप धरि असुर संहारे।
रामचंद्र के काज संवारे।।

लाय सजीवन लखन जियाये।
श्रीरघुबीर हरषि उर लाये।।

रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई।
तुम मम प्रिय भरतहि सम भाई।।

सहस बदन तुम्हरो जस गावैं।
अस कहि श्रीपति कंठ लगावैं।।

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा।
नारद सारद सहित अहीसा।।

जम कुबेर दिगपाल जहां ते।
कबि कोबिद कहि सके कहां ते।।

तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा।
राम मिलाय राज पद दीन्हा।।

तुम्हरो मंत्र बिभीषन माना।
लंकेस्वर भए सब जग जाना।।

जुग सहस्र जोजन पर भानू।
लील्यो ताहि मधुर फल जानू।।

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहीं।
जलधि लांघि गये अचरज नाहीं।।

दुर्गम काज जगत के जेते।
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते।।

राम दुआरे तुम रखवारे।
होत न आज्ञा बिनु पैसारे।।

सब सुख लहै तुम्हारी सरना।
तुम रक्षक काहू को डर ना।।

आपन तेज सम्हारो आपै।
तीनों लोक हांक तें कांपै।।

भूत पिसाच निकट नहिं आवै।
महाबीर जब नाम सुनावै।।

नासै रोग हरै सब पीरा।
जपत निरंतर हनुमत बीरा।।

संकट तें हनुमान छुड़ावै।
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै।।

सब पर राम तपस्वी राजा।
तिन के काज सकल तुम साजा।

और मनोरथ जो कोई लावै।
सोइ अमित जीवन फल पावै।।

चारों जुग परताप तुम्हारा।
है परसिद्ध जगत उजियारा।।

साधु-संत के तुम रखवारे।
असुर निकंदन राम दुलारे।।

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता।
अस बर दीन जानकी माता।।

राम रसायन तुम्हरे पासा।
सदा रहो रघुपति के दासा।।

तुम्हरे भजन राम को पावै।
जनम-जनम के दुख बिसरावै।।

अन्तकाल रघुबर पुर जाई।
जहां जन्म हरि-भक्त कहाई।।

और देवता चित्त न धरई।
हनुमत सेइ सर्ब सुख करई।।

संकट कटै मिटै सब पीरा।
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा।।

जै जै जै हनुमान गोसाईं।
कृपा करहु गुरुदेव की नाईं।।

जो सत बार पाठ कर कोई।
छूटहि बंदि महा सुख होई।।

जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा।
होय सिद्धि साखी गौरीसा।।

तुलसीदास सदा हरि चेरा।
कीजै नाथ हृदय मंह डेरा।।

दोहा:

READ ALSO  सुंदरकांड पाठ हिंदी में अर्थ सहित | Sunderkand Hindi Lyrics PDF

पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।
राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप।।

हनुमान चालीसा हिंदी मतलब | Hanuman Chalisa Hindi Meaning PDF

  • हनुमान चालीसा में कुल 43 श्लोक हैं, शुरुआत में 2 दोहा, इसके बाद 40 चौपाई और अंत में फिर 1 दोहा के श्लोक हैं।
  • शुरुआत की दोहा में देवों के देव महादेव का उल्लेख और उनकी वर्नाना किया गया है। इसके बाद प्रथम 10 चौपाई श्लोक में प्रभु श्री हनुमान जी का मंगलमय गुण, ज्ञान, शक्ति, सद्गुण और उनकी साहस को वर्णन करते हुए उनकी प्रशंसा किया गया है।
  • इसके बाद की 10 श्लोकों में हनुमान जी प्रभु श्री राम का कैसे सेवा करते हैं उसकी बारे में वर्णन किया गया है। इसके बाद की 5 श्लोक में हनुमान जी कैसे अब-चेतन लक्ष्मण जी की चेतना को वापस लाते हैं उसकी वर्णन किया गया है।
  • इसकी बाद की श्लोक में तुलसीदास जी वर्णन करते हैं की हमारी जीवन में हनुमान जी की कृपा प्राप्त करना कितनी जरूरी है। इसके बाद के श्लोक में तुलसीदास जी हनुमान जी को परम अध्यात्मिक मनोभाव के साथ उनका स्तुति करते हैं, और उनको अनुरोध करते हैं उनके हृदय में और भक्तों की हृदय में स्थित होने के लिए।
  • अंतिम की दोहा में फिर से तुलसीदास जी हनुमान जी को अनुरोध करते हैं प्रभु श्री राम, लक्ष्मण और सीता देवी के साथ उनको भी भक्तों की हृदय में स्थान लेने के लिए।
READ ALSO  లలిత సహస్రనామం తెలుగు PDF | Lalitha Sahasranamam Telugu PDF

हनुमान चालीसा पाठ के विधि | Hanuman Chalisa Hindi Paath Ke Vidhi

  • हनुमान चालीसा को आप किसी भी दिन कर सकते हैं, लेकिन मंगलवार के दिन शुरू करना सबसे शुभ माना जाता है
  • सूर्योदय से पहले स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करें और पाठ के लिए प्रस्तुत हो जाए।
  • जिस जगह पाठ शुरू करने वाले, वह साफ करके हनुमान जी की एक मूर्ति या तस्वीर स्थापित करें।
  • सुगंधी दीपक, फूल आदि का अर्पण करें।
  • हनुमान जी की पसंदीदा लड्डू और फल आदि को भोग की रूप में चढ़ाएं।
  • इसके बाद पूर्व दिशा की ओर मुंह करके किसी भी आसन में बैठे और पाठ की शुरुआत करें।
  • हनुमान चालीसा पाठ संपूर्ण करने के बाद प्रभु श्री राम का स्तुति करें।
  • अंत में प्रसाद को भक्तों में बांट दे।

हनुमान चालीसा पाठ के फायदे | Benefits Of Chanting Hanuman Chalisa Hindi

हनुमान चालीसा की पाठ से आपको बहुत सारे लाभों की प्राप्ति होती है, जैसे:

  • हनुमान चालीसा के पाठ से प्रतिदिन की कामों में और अभी ऊर्जा और उद्गम महसूस होती है।
  • अगर आप कोई भी छोटी या बड़ी शारीरिक कमजोरी से जूझ रहे हैं, तो हनुमान चालीसा की नियमित पाठ से आपकी वह सारी कमजोरी दूर हो सकती है।
  • हनुमान चालीसा की नियमित पाठ से आर्थिक कमजोरियां भी दूर हो जाते हैं।
  • इसकी नियमित पाठ आपकी शत्रु की बूढ़ी नजर से आपकी और आपकी परिवार को सुरक्षित रखती है।
  • अगर आपको किसी भी तरह की मानसिक कमजोरी या भय सता रही है, तो हनुमान चालीसा की नियमित पाठ से आप उससे छुटकारा पा सकते हैं।
  • अगर आप कोई काम में हर बार असफल हो रहे हैं, तो इसकी नियमित पाठ से आपकी उस काम में सफलता पाने की संभावना बढ़ जाती है।
  • अंत में अगर कहा जाए तो इसकी पाठ से आपकी जीवन शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और आध्यात्मिक हर और से समृद्ध होने की और चल पड़ती है।

हनुमान चालीसा हिंदी पीडीएफ डाउनलोड | Download Hanuman Chalisa Hindi PDF

Click here: Download

FAQs – Hanuman Chalisa In Hindi PDF With Meaning

1. हनुमान चालीसा हिंदी पीडीएफ कहां से डाउनलोड करें – From where I can Download Hanuman Chalisa Hindi PDF?

आप हनुमान चालीसा का हिंदी पीडीएफ यहां से डाउनलोड कर सकते हैं – you can Download Hanuman Chalisa Hindi Lyrics PDF from here.

2. हनुमान चालीसा पाठ के फायदे क्या है – What are the Benefits of chanting Hanuman Chalisa Hindi?

हनुमान चालीसा पाठ के संपूर्ण फायदे और नुकसान यहां से जान ले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *